क्या आपके भी संभोग के बाद गुप्तांग में खुजली और जलन होती है, जानिए कारण और उपाए

Spread the love

संभोग के बाद गुप्तांग में खुजली और जलन: आजकल की भागदौड़ भरी लाइफस्टाइल के कारण महिलाएं खुद पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पातीं, जिसका सीधा असर उनकी सेक्स लाइफ पर पड़ता है। इसके कारण उन्हें कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। संभोग के बाद गुप्तांग में खुजली और जलन इनमें सबसे आम समस्या है। सबसे पहले, यह जरूरी है कि आप इस स्थिति को लेकर ज्यादा परेशान न हों। संभोग के बाद अगर आपके वेजाइना में खुजली होती है, तो यह एक सामान्य समस्या हो सकती है, जिसका उपचार संभव है।

यह समस्या कई कारणों से हो सकती है, जैसे यीस्ट इंफेक्शन या एलर्जी, बैक्टीरिया के कारण। तो आइए, इस ब्लॉग में इस समस्या के कारणों और उपायों पर विस्तार से चर्चा करें।

खुजली का कारण हो सकता है यीस्ट इंफेक्शन

फिजिकल रिलेशन के बाद वेजाइना में खुजली होना अक्सर यीस्ट इंफेक्शन का संकेत हो सकता है। यीस्ट इंफेक्शन एक फंगल इंफेक्शन है, जो कि कैन्डिडा नामक फंगस के ज्यादा विकास के कारण होता है। यह खुजली नीचे दिए गए लक्षणों के साथ होती है

  • खुजली और जलन
  • सफेद, गाढ़ा डिस्चार्ज
  • सूजन और लालिमा

यदि आपको इस प्रकार के लक्षण दिखाई दें, तो आपको अपने गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए। सही दवाइयों और उपचार से यह समस्या ठीक हो सकती है।

एलर्जी के कारण खुजली

अगर आपके गुप्तांग में खुजली करने पर कोई डिस्चार्ज नहीं होता है, तो यह आपके पार्टनर के सीमेन से एलर्जी के कारण भी हो सकता है। इस स्थिति में आपको इन बातों का ध्यान रखना चाहिए

  • खुजली और जलन केवल सेक्स के बाद ही होती है
  • खुजली करने पर कोई डिस्चार्ज नहीं होता
इसे भी पड़ें   शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि, लिंग को बनाए लोहे जैसा मजबूत

अगर आपको बार-बार यह समस्या होती है, तो आपको किसी चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए। वे आपकी समस्या का सही निर्णय ले सकते हैं और आपको सही इलाज दे सकते हैं।

जलन और सूजन

अगर इंटरकोर्स के तुरंत बाद आपके गुप्तांग में जलन, लालिमा और सूजन होती है, तो यह भी एक गंभीर समस्या हो सकती है। ऐसी स्थिति में आपको तुरंत किसी गायनाकोलॉजिस्ट से चेकअप करवाना चाहिए। यह स्थिति एलर्जी या किसी और प्रकार के इंफेक्शन के कारण हो सकती है। गुप्तांग की सफाई और हाइजीन का ध्यान रखना बहुत महत्वपूर्ण है। यह शरीर का एक बहुत ही नाजुक और महत्वपूर्ण अंग है। यहां कुछ सुझाव दिए जा रहे हैं, जिनको अपनाकर आप वेजाइनल पीएच बैलेंस रख सकती हैं

  • सफाई करते समय कोमलता का प्रयोग करें
  • पानी की तेज धार से सफाई न करें, क्योंकि इससे पीएच बैलेंस गड़बड़ा सकता है
  • मार्केट में उपलब्ध इंटीमेट हाइजीन प्रोडक्ट्स जैसे वी वाश, वेजिटोन इंटीमेट हाइजीन वाश, डॉ. मोर्पिन क्लीन एंड प्योर इंटिमेट हाइजीन वाश का प्रयोग करें

इन प्रोडक्ट्स का नियमित उपयोग वेजाइनल पीएच बैलेंस को बनाए रखने में मदद करता है, जिससे हेल्दी बैक्टीरिया की ग्रोथ होती है और इंफेक्शन्स का खतरा कम होता है।

पब्लिक टॉयलेट के इस्तेमाल के समय सावधानी


घर से बाहर निकलते समय या ऑफिस में पब्लिक टॉयलेट का इस्तेमाल करते समय विशेष सावधानी बरतें। पब्लिक टॉयलेट्स से कई प्रकार के इंफेक्शन्स हो सकते हैं।

  • टॉयलेट सीट कवर का प्रयोग करें
  • टॉयलेट पेपर का सही तरीके से उपयोग करें
  • टॉयलेट का उपयोग करने के बाद हाथ अच्छी तरह से धोएं
इसे भी पड़ें   योनि से निकलते सफेद पानी का रामबाण इलाज मिलेगा आराम

अगर सावधानी बरतने के बावजूद भी कोई इंफेक्शन हो जाए, तो बिना किसी शर्म या संकोच के डॉक्टर से मिलें। सही समय पर इलाज और देखभाल से इंफेक्शन गंभीर रूप नहीं ले पाएगा।

सेक्स करने से पहले और बाद में ध्यान रखने योग्य बातें

सेक्स से पहले और बाद में दोनों पार्टनर्स को अपने हाथों और नाख़ूनों को अच्छी तरह साबुन से साफ करना चाहिए। इससे प्राइवेट पार्ट में किसी भी तरह के बैक्टीरिया या जर्म्स नहीं पहुंचेंगे। गुप्तांग के बालों को भी साफ रखें, ताकि सेक्स के दौरान सब कुछ ठीकठाक हो सके। सेक्स करने से पहले और बाद में कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है जो नीचे बताई जा रही हैं।

  • दोनों पार्टनर सेक्स से पहले और बाद में हाथ और नाखूनों को साबुन से अच्छी तरह साफ कर लें
  • अपने गुप्तांगों के बालों को शेव करके रखें, जिससे कि सेक्स के दौरान सब कुछ साफ-सुथरा और आनंददायक हो

इससे न केवल आपकी सेक्सुअल लाइफ हेल्दी और बेहतर, बल्कि आप इंफेक्शन्स और दूसरी सेक्स डिजीज से भी बच सकेंगे।

सही डाइट भी है ज़रूरी

इंटीमेट हाइजीन के साथ-साथ आपकी डाइट भी आपके सेक्सुअल हेल्थ के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। एक संतुलित आहार न केवल आपके शरीर को स्वस्थ रखता है, बल्कि आपको इंफेक्शन्स से बचाने में भी मदद करता है।

  • दही और क्रैनबेरी जूस का सेवन यीस्ट इंफेक्शन से बचाव करता है
  • वेजाइनल ड्रायनेस होने पर सोया प्रोडक्ट्स का सेवन बढ़ाएं, क्योंकि इनमें नेचुरल लुब्रिकेशन को बढ़ाने के लिए एस्ट्रोजन का एक प्रकार पाया जाता है
इसे भी पड़ें   हाथ-पैरों में कमजोरी झुनझुनी का एहसास होना है किस बीमारी के लक्षण

आपका शरीर स्वस्थ रहता है और इंफेक्शनों से बचाता है अगर आप सही डाइट लेते हैं। रोग प्रतिरोध को बढ़ाने के लिए आपको अपनी डाइट पर खास ध्यान देना चाहिए।

निष्कर्ष

जैसे की अपने इस ब्लॉग में विस्तार से देखा कि संभोग के बाद गुप्तांग में खुजली और जलन होना एक सामान्य समस्या हो सकती है, लेकिन इसका सही निदान और उपचार करना बहुत जरूरी है। सही इंटीमेट हाइजीन, संतुलित आहार, और सावधानियों के साथ आप इस समस्या से बच सकते हैं। यदि समस्या गंभीर हो या बार-बार हो रही हो, तो बिना देर किए किसी विशेषज्ञ से परामर्श करें। सही समय पर इलाज से आप स्वस्थ और खुशहाल जीवन जी सकते हैं।

इन्हें भी पड़ें –

कैसे पता करें कि महिला दूसरे के संपर्क में हैं, 9 संकेत पत्नी धोखा दे तो कैसे पहचाने

फीमेल वियाग्रा के फायदे और नुकसान

घोड़े जैसी मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए?

Leave a Comment